aadhaar_child_uidai

आधार कार्ड कर रहा है परिवारों को मिलाने का भी काम

जी हां, आधार card कर रहा है परिवार के सदस्यों को मिलने का काम। हाल ही में आधार (Aadhaar) द्वारा सालों पहले बिछड़े बच्चों का अपने परिवार से मिलन मुमकिन हुआ है। आइये जानते कैसे।

एक सूचना के अनुसार आधार card ने, पिछले कुछ साल से अपने परिवार से बिछड़े नीलकंठ, ओम प्रकाश और मोनू अपने परिवारवालों से मिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

भारत के अलग अलग राज्यों से ताल्लुक रखने वाले ये तीन बच्चे नीलकंठ, ओम प्रकाश और मोनू कुछ वर्षों पहले अपने परिवार से बिछड़ गए थे। इसके बाद इन बच्चों को बेंगलुरु के आधार कैंप में रखा गया और कैंप में इनके फिंगर प्रिंट की जाँच के दौरान पाया गया की इनका आधार card पहले से बना हुआ है।

आधार card पर उपलब्ध 12 डिजिट नंबर से इनके घर का पता लगाने में मदद मिली। मध्यप्रदेश की रहने वाले मोनू जिसका असल नाम नरेंद्र है जो मंदबुद्धी के चलते डेढ़ साल पहले गुमशुदा हो गया था और इसे बेंगलुरु स्थिति Aadhaar camp में इसके परिवार को सौंपा दिया गया है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय की कोशिश के बाद मध्य प्रदेश के रहने वाले नरेंद्र के परिवारवालों से संपर्क किया गया और इसकी सुचना परिवार को दी गई।

aadhar12digitnumber

ऐसे ही ओमप्रकाश भी अपनी मंदबुद्धी के चलते कुछ साल पहले लापता हो गया था जिसे आधार जांच के द्वारा उसका सही पता लगाया जा सका है। ओमप्रकाश जो झारखंड का रहने वाला है उसे भी बेंगलुरु के आधार कैंप ऑफिस से उसके परिवार वालों को सौंपा जाएगा।

तो देखा आपने कैसे आधार ने जादुई तरीके से काम किया है। यहां आपसे यह अनुरोध है कि आप भी अपने परिवार के सभी सदस्यों का आधार जरूर बनवाये जिससे भविष्य में इसका लाभ प्राप्त किया सके।

Comment box में आधार कार्ड से जुड़ी ऐसी कोई भी जानकारी हमसे साझा करना न भूले|

Tags: , , , , ,
Previous Post
aadhaar_real_estate
Aadhar Card News

अब आधार बनेगा सम्पति बेचने के लिए अनिवार्य – It’s a fake

Next Post
Aadhaar-Card-and-bank-account-Linking
Aadhar Card News

क्या अब सभी बैंकों में बनेंगे आधार कार्ड, डाटा भी अपडेट करवा सकेंगे?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *